Hi " Guest " , By Registering an Account today you will be able to See more posts and Topics Rather Being a guest, Please Register Today


Thread Rating:
  • 3 Vote(s) - 5 Average
  • 1
  • 2
  • 3
  • 4
  • 5
मेरे तांत्रिक जीवन की घटनाएं
wow,. waiting for updates guruji.
Go corona, corona goooo
Reply



प्रातः ८ बजे निद्रा देवी ने मुझे अपने आगोश से मुक्त किया. सूर्यदेव मुझे ही निहार रहे हो ऐसा प्रतीत हुआ.

नित्यकर्म से फारिग होने के पश्चात धुमदेवी की आराधना करि और नाश्ते को ग्रहण किया यह सोच कर की प्रकृति की कितनी कृपा है हम पर और हम नादाँ मनुष्य इसको ही कोसते हैं. गहन विचारो में खोने के पश्चात शर्मा जी का ख्याल आया. सोच ही रहा था की उनकी आमद हुई. रात वाली बात को आगे बढ़ाते हुए उन्होंने बताया की २ दिन पश्चात हमको वह प्रस्थान करना होगा. मैंने हामी भरली.

शर्मा जी से कुछ प्रश्नोत्तर करके के पश्चात मैंने अपने खास कारिंदे वल्लभ को वह भेजा. वल्लभ हमेशा प्रस्सन रहता हैं और कभी किसी कार्य को मना नहीं करता. यह मेरे एक गुरुभाई ने उपहार स्वरुप भेट किया था। थोड़ा रसिया हैं वल्लभ लेकिन उसमे कोई गलत बात नहीं. ईबु शराब का तलबगार रहता हैं। नस्तारा को मांस की चाहत रहती हैं. सबकी अपनी अपनी तासीर हैं. खैर वल्लभ रवाना हुआ और कुछ देर बाद जो खबर लाया वह सुनकर मेरे को हैरानी हुई.

बात उतनी छोटी नहीं थी, जितनी लग रही थी, यह कृपया था ईश्वर की अब तक परिवार को कुछ बड़ा अहित नहीं हुआ था.

मैंने अब अपनी सारी क्रियाओं को जागृत किया और शर्मा जी को कुछ सामग्री बता दी वह जाने से पहले. शर्मा जी कुछ सामान इधर से ही खरीद लिया और बाकी वही लेने के फैसला किया. सही भी था. वह सामान साथ ले जाना उचित न रहता. पुलिस बल समस्या करता हैं कभी कभार.

खैर मैंने इन् दो दिनों में छक्क के मदिरा पि एयर भैरो बाबा को भी भोग लगता रहा. औघड़ क्या चाहे मैया... तेरा ही बच्चा हैं, तू रख ले या बुला ले...

क्रमश
Reply



(03-26-2020, 05:58 PM)RollJack Wrote: wow,. waiting for updates guruji.

guruji ka explosive comeback
Karoona Go... Karoona go... Go Coroona!
[Image: Anil-Loafer-037.jpg]
Reply





Forum Jump:


Users browsing this thread: 1 Guest(s)